मुख्य पृष्ठ  | संबंधित लिंक   | सूचना का अधिकार  | सामान्यतः पूछे जाने वाले प्रश्न  | सम्पर्क   | साइट मानचित्र | भा.वा.अ.शि.प. वेबमेल  | नागरिक चार्टर   | English Site 

भारतीय वानिकी अनुसंधान एवं शिक्षा परिषद

(पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के तहत एक स्वायत्त निकाय, भारत सरकार )
Select Theme:
 वार्षिक सम्पति विवरण पोर्टल   |   गेस्ट हाउस बुकिंग पोर्टल   |   इंटरएक्टिव पोर्टल: हितधारकों के साथ इंटरफेस

मुख्य पृष्ठ » संस्थान »शु.व.अ.सं. , जोधपुर

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर

AFRI Jodhpur

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर की स्थापना 1988 को राजस्थान, गुजरात तथा दादर नगर हवेली तथा दमन तथा दियू के शुष्क तथा अर्धशुष्क क्षेत्रों की वानिकी अनुसंधान आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए की गई।

 

संस्थान जोधपुर-पाली रोड (एन एच-65) में 20.82 हेक्टर क्षेत्र में फैले खूबसूरत परिसर में कार्यालय भवनों, प्रयोगशालाओं, पुस्तकालय-कम-सूचना केंद्र, समुदाय केंद्र, अतिथि गृह, वैज्ञानिक छात्रावास तथा आवासीय भवन सहित स्थित है

निदेशक, शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर



श्री एन. के. वासु 
निदेशक, शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधुपर

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधपुर (राजस्थान) की शासकीय वेबपेज में आपका स्वागत करते हुए मुझे अत्यंत प्रसन्नता है। संस्थान के मुख्य थ्रस्ट क्षेत्र तनाव क्षेत्रों में वनीकरण के लिए, मिट्टी, पानी तथा पोषण प्रबंधन, तकनीकें रोपण प्रबंधन, वृद्धि तथा कृषि माडलिंग, रोपण भण्डार सुधार, जैव उर्वको तथा जैव-कीट नाशी, कृषि वानिकी, जे एफ एम तथा विस्तार, फाइटोकैमिस्ट्री तथा अकाष्ठ वन उत्पाद, एकीकृत नाशी कीट तथा रोग प्रबंधन तथा वानिकी शिक्षा है।

मुझे आशा है कि वेबपेज पर दी गई सूचना दर्शकों के लिए अत्यंत उपयोगी होगी। वेबसाइट में सुधार के लिए आपके सुझावों का स्वागत है।


संस्थान के पास केजरी से जुड़ा हुआ प्लाट न. 729 पर एक अतिरिक्त परिसर है। संस्थान के पास मुख्य परिसर के आसपास के भीतर तीन प्रयोगात्मक क्षेत्र तथा एक माडल पौधशाला है। संस्थान की अध्यक्षता निदेशक द्वारा समूह समन्वयक (अनुसंधान) तथा समन्वयक (सुविधा) की सहायता से की जाती है। संस्थान के पास सुसज्जित प्रयोगशालाओं तथा तकनीकी जनबल सहित छः प्रभाग हैं-

1. वन पारिस्थितिकी प्रभाग
2. वन आनुवंशिकी एवं वृक्ष प्रजनन प्रभाग
3. वन संरक्षण प्रभाग
4. वन संवर्धन प्रभाग
5. अकाष्ठ वन उत्पाद प्रभाग
6. कृषि वानिकी तथा विस्तार प्रभाग

इन प्रभागों की सहायता सूचना प्रौद्योगिकी प्रकोष्ठ, समन्वयक (सुविधाएं), लेखा अनुभाग तथा पुस्तकालय कम सूचना केंद्र तथा विस्तार विंग करते है।

संस्थान की कार्यचालन क्षमता 110 है (संस्वीकृत क्षमता 133 में से) जिसमें दो वन संरक्षक, एक उप वन संरक्षक, 19 वैज्ञानिक, एक नियंत्रक, एक सहायक प्रशासनिक अधिकारी, एक हिन्दी अधिकारी, एक पुस्तकालयाध्यक्ष, 6 अनुसंधान अधिकारी, एक रेंज अधिकारी, अनुसचिवीय तथा तकनीकी कर्मचारी हैं।

संस्थान का अधिदेश

शुष्क तथा अर्धशुष्क क्षेत्रों पर विशेष बल के साथ राजस्थान, गुजरात तथा दादरा एवं नगर हवेली में उत्पादकता को बढ़ाने तथा जैवविविधता संरक्षण के लिए वानिकी अनुसंधान



थ्रस्ट क्षेत्र

संस्थान के मुख्य थ्रस्ट क्षेत्रः मृदा, जल तथा पोषण प्रबंधन; तनाव क्षेत्रों के लिए वनरोपण तकनीकें; रोपण प्रबंधन; रोपण भण्डार सुधार; पौधशाला तथा रोपण तकनीकें; जैव उर्वरक एवं जैव कीट नाशक; कृषि वानिकी; संयुक्त वन प्रबंधन एवं विस्तार; फाइटोकैमिस्ट्री; अकाष्ठ वन उत्पाद; समेकित कीट एवं रोग प्रबंधन; औषधीय पादप; जैवईंधन; कार्बन अधिग्रहण; जलवायु परिवर्तन; वाटरशेड विकास तथा वानिकी शिक्षा एवं प्रशिक्षण



पोस्टल पता

निदेशक,
Arid Forest Research Institute

शुष्क वन अनुसंधान संस्थान
पो. ओ. कृषि उपज मण्डी
न्यू पाली रोड, जोधपुर- 342 005
वेबसाइट: http://www.afri.res.in
ई-मेल: dir_afri@icfre.org, gcr_afri@icfre.org, itcell_afri@icfre.org


हाथ में ली गई परियोजानएं

पूरी की गई परियोजनाएं 2008-2009 2009-2010 -
जारी परियोजनाएं  -  - 2010-2011
नई प्रारंभ परियोजना  -  - 2010-2011
बाह्य सहायता प्राप्त
नई प्रारंभ परियोजना 2008-2009 - -
जारी परियोजनाएं  -  - -
नई प्रारंभ परियोजना  - -

 

 

नाम

पद

दूरभाष-कार्यालय

दूरभाष-निवास

ई-मेल

श्री एन. के. वासु

निदेशक, शुष्क वन अनुसंधान संस्थान, जोधुपर

+91-291-
2722269 *101
+91-291- 2722549

+91-291-

dir_afri@icfre.org, gcr_afri@icfre.org, itcell_afri@icfre.org


अधिक जानकारी के लिए :http://www.afri.res.in

 

अस्वीकरण ( डिस्क्लेमर): दिखाई गई सूचना को यथासंभव सही रखने के सभी प्रयास किए गए हैं। वेबसाइट पर उपलब्ध सूचना के अशुद्ध होने के कारण किसी भी व्यक्ति के किसी भी नुकसान के लिए भारतीय वानिकी अनुसन्धान एवं शिक्षा परिषद उत्तरदायी नहीं होगा। किसी भी विसंगति के पाए जाने पर head_it@icfre.org के संज्ञान में लाएं।